• Breaking News

    किसान आंदोलन:आज मंदसौर जाएंगे शिवराज, सिंधिया का भोपाल में सत्याग्रह

    मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान आज मंदसौर में किसान आंदोलन के हिंसक होने के दौरान मारे गए किसानों के परिजनों से मुलाकात करेंगे, वहीं कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया आज से भोपाल में सत्याग्रह पर बैठेंगे।  
    कांग्रेस के प्रवक्ता जे पी धनोपिया ने बताया कि पार्टी ने आज दोपहर एक बजे शुरु होने वाले 72 घंटे के इस सत्याग्रह के लिए दशहरा मैदान पर सभी तैयारियों को अंजाम दे दिया है। आज से सिंधिया का सत्याग्रह शुरु होगा, जिसमें सिंधिया के अलावा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह और पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अरुण यादव भी शामिल होंगे।
    हिंसा में मारे गए किसानों के परिवार को 6 करोड़ की आर्थिक सहायता मंजूर
    राज्य सरकार ने एक जून को किसान आंदोलन में मंदसौर जिले के मृतक 6 लोगों के लिये मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान से प्रति व्यक्ति एक करोड़ रुपये यानि कुल 6 करोड़ रूपये की आर्थिक सहायता स्वीकृत कर दी है। 
    आधिकारिक जानकारी के अनुसार, यह सहायता राशि मंदसौर जिला के कलेक्टर के माध्यम से ई-पेमेंट द्वारा मृतकों के परिजन को भुगतान की जायेगी। कलेक्टर मंदसौर को राशि की स्वीकृति देने के साथ ही राशि हस्तांतरित कर शीघ्र सहायता राशि देने के निर्देश दिये गये हैं।
    मध्यप्रदेश में बनेंगे आदर्श किसान बाजार
    किसानों को अपनी उपज सीधे बेचने की सुविधा देने के लिये प्रदेश में आदर्श किसान बाजार बनाये जायेंगे। ये जानकारी मंगलवार को भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा गत 11 जून को की गयी किसान हितैषी घोषणाओं की समीक्षा के लिये ली गई बैठक में दी गई। 
    किसानों तक फसलों के सम्बन्ध में सही और वैज्ञानिक जानकारी पहुंचाने के लिये विलेज नॉलेज सेंटर बनाये जायेंगे। बिना किसान की सहमति के लिये विकास परियोजनाओं की भूमि नहीं ली जा सके, इसके लिये कानून में संशोधन किया जायेगा। इन घोषणाओं पर क्रियान्वयन भी शुरू हो गया है।
    मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिये कि किसानों हित के लिये की गयी घोषणाओं का क्रियान्वयन तेजी से किया जाए। संबंधित आदेश तुरंत जारी किया जाए। सभी मंत्री अपने-अपने विभागों में इनकी समीक्षा करें। एक सप्ताह बाद वे पुन: समीक्षा करेंगे। प्याज खरीदी की व्यवस्थाओं की लगातार मॉनीटरिंग किया जाए।
    बताया गया कि सभी नगरीय निकायों और विकासखंड मुख्यालयों में किसान बाजार बनाये जायेंगे। इन बाजारों में किसान खुद फल, सब्जी जैसी अपनी उपजें बेच सकेंगे। नगरीय निकायों में नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग तथा ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण विकास विभाग किसान बाजार बनायेंगे। जिन मण्डियों में नीलामी नहीं हो रही है वहाँ पर भी किसान फल, सब्जी जैसी अपनी उपज बेच सकेंगे। इन बाजारों का संचालन सहकारी समिति करेगी। 
    विकासखंड स्तर से ग्राम स्तर तक किसानों को फसलों के संबंध में सही जानकारी और वैज्ञानिक सूचनाएं पहुंचाने के लिये विलेज नॉलेज सेंटर बनाये जायेंगे। इसकी तैयारी कृषि विभाग द्वारा की जा रही है। इन सेंटरों के माध्यम से किसानों को मौसम की जानकारी, फसलों की संभावनाओं और भूमि के उपयोग के बारे में जानकारी दी जायेगी।

    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers