• Breaking News

    .

    .

    70 साल बाद 70 मिनट के लिए रात 12 बजे संसद समारोह, बदलेगी देश की इकॉनमी

    वित्त मंत्री अरुण जेटली मंगलवार को जीएसटी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस ली. उन्होंने बताया कि 30 जून की रात ठीक 12 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में जीएसटी लागू हो जाएगा.

    बता दें कि 14 अगस्त 1947 को आजादी से पहले पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने संसद का विशेष समारोह रात 12 बजे बुलाया था. इस समारोह को 'फ्रीडम एट मिडनाइट' के नाम से जाना जाता है. इस समारोह में नेहरू ने अपनी विश्व प्रसिद्ध स्पीच 'ट्रिस्ट विद डेस्टिनी' स्पीच दी थी. इसके 70 साल बाद जीएसटी लॉन्च करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऐसा ही समारोह करने जा रहे हैं, जिसमें वह ऐतिहासिक भाषण देंगे.

    उन्होंने कहा कि इसके लिए संसद के दोनों सदनों में सेंट्रल हॉल का आयोजन किया गया है. इसमें सभी सांसद, जीएसटी काउंसिल के सदस्य, काउंसिल की एम्पॉवर्ड कमिटी के सभी चेयरपर्सन और सभी राज्य सरकारों के वित्त मंत्री मौजूद रहेंगे. उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी न्यौता भेजा जाएगा.

    इस दौरान जब एक पत्रकार ने जीएसटी की तैयारी पूरी नहीं होने को लेकर सवाल पूछा तो अरुण जेटली ने कहा, 'कोई और कैसे कह सकता है कि सरकार तैयार नहीं है. हम तैयार हैं और जीएसटी एक जुलाई से ही लागू होगा. ट्विटर पर ही लोग कह रहे हैं कि तैयारी नहीं हुई.'
    जेटली ने कहा कि जीएसटी को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी में लॉन्च किया जाएगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए दो पूर्व प्रधानमंत्रियों मनमोहन सिंह और एचडी देवगौड़ा से कार्यक्रम में शामिल होने का अनुरोध किया गया है.

    जेटली ने कहा कि यूपीए सरकार ने 2006 में जीएसटी लागू करने की बात कही थी. तबसे इसकी प्रक्रिया जारी है. उन्होंने कहा कि ज्यादातर राज्यों ने जीएसटी पर सहमति दे दी है और केरल और जम्मू-कश्मीर की विधानसभाओं में भी जल्द ही जीएसटी बिल पास हो जाएगा.

    जेटली ने कहा कि जीएसटी देश की इनडायरेक्ट टैक्स सिस्टम को पूरी तरह बदल देगा. वहीं जीएसटी पर बात करते हुए नागर विमानन मंत्री जयंत सिन्हा ने बताया कि जीएसटी का प्रभाव टिकटों की कीमत पर नहीं पड़ेगा.

    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers