17 जून को पीएम करेंगे कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन, मंच पर 'मेट्रो मैन' को जगह नहीं - jabalpur awaaz

Breaking

Thursday, 15 June 2017

17 जून को पीएम करेंगे कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन, मंच पर 'मेट्रो मैन' को जगह नहीं

नई दिल्ली/कोच्चि: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार 17 जून को कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन करेंगे। साथ ही मेट्रो में सफर करने वाले मोदी पहले यात्री भी होंगे। इस बात की आधिकारिक घोषणा बुधवार को की गई लेकिन इस घोषणा के साथ ही एक नया विवाद खड़ा होग या है।

'मेट्रो मैन' को मंच पर जगह नहीं मिली
दरअसल कार्यक्रम में जो मेहमान पीएम के साथ शामिल होंगे, उस लिस्ट में 'मेट्रो मैन' ई. श्रीधरन का नाम शामिल नहीं है, मतलब कि उन्हें मंच पर जगह नहीं दी गई है।  कार्यक्रम के लिए बने मंच में मेट्रो मैन को सीट नहीं दिया जाना हैरान करने वाला है। मंच पर पीएम के अलावा केरल के राज्यपाल पी. सदाशिवम, सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू और केरल के मुख्यमंत्री पिन्नारी विजयन शामिल है।

कौन हैं 'मेट्रो मैन'
'मेट्रो मैन' के नाम से पुकारे जाने वाले श्रीधरन ही कोच्चि मेट्रो प्रोजेक्ट के एडवाइजर हैं। वहीं, इस मामले में कोच्चि मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के मैनेजिंग डॉयरेक्टर इलाइस जॉर्ज की मानें तो मेहमानों की अंतिम लिस्ट PMO से बनकर आई है। जॉर्ज ने कहा कि उन्होंने मेहमानों की लिस्ट बनाकर पीएमओ को भेजी थी, वहां से ही अंतिम लिस्ट आई है।

कई और नेताओं को भी नहीं मिली जगह
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कई और लोगों का भी लिस्ट से नाम हटाया गया है। जिनमें विपक्ष के नेता रमेश चेन्नथाला, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी, स्थानीय सांसद केवी थॉमस तथा स्थानीय विधायक पीटी ऑमस भी शामिल हैं। हालांकि पिनारी विजयन की अध्यक्षता वाली केरल सरकार ने प्रधानमंत्री कार्यालय को पत्र लिखा है, जिसमें उसने विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला और कोच्चि के विधायक पीटी थॉमस के साथ श्रीधरन के लिए भी मंच पर बैठने की व्‍यवस्‍था करने के लिए योजना को संशोधित करने के लिए कहा है।

कोच्चि मेट्रो से इनको होगा खास लाभ
- 25 किलोमीटर के पहले फेस में ट्रेन पलारिवट्टोम और अलुवा के बीच 13 किलोमीटर के रूट पर चलेगी। बाकी सेक्शंस पर अभी काम हो रहा है।
-कोच्चि मेट्रो देश में एक आधुनिक शहरी परिवहन प्रणाली होगी जो सैकड़ों महिलाओं के साथ ही ट्रांसजेंडर समुदाय के 23 लोगों को भी रोजगार अवसर प्रदान करेगी। इससे लैंगिक न्याय के क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत होगी।
-‘कुडुमबाश्री मिशन’ की 600 से अधिक प्रशिक्षित महिलाओं को अलुवा से पलरिवात्तोम के बीच संचालित होने जा रही मेट्रो के पहले चरण में सुचारू संचालन से जुड़े कार्यों में लगाया गया है।
- ट्रांसजेंडर समाज के लोगों को टिकट काउंटर से लेकर साफ-सफाई से जुड़े काम की नौकरियां दी गई हैं।

बता दें कि पीएम कोच्चि मेट्रो का उद्घाटन वे 11 बजे करेंगे। उद्घाटन से पहले वह पलारीवट्टोम से ट्रेन में सवार होंगे और पथदिप्पलम तक जाएंगे और गणमान्य लोगों के साथ पलारीवट्टोम वापस आएंगे'।

No comments:

Post a Comment

Whatsapp status