• Breaking News

    .

    .

    रवीना टंडन ने कुलभूषण जाधव मामले में पीएम मोदी से पूछा सवाल

    अभिनेता ऋषि कपूर, सिंगर अभिजीत भट्टाचार्य, पूर्व पाकिस्तानी गायक अदनान सामी, ऐक्टर रणदीप हुड्डा के बाद अब बॉलिवुड की तेज-तर्रार और बेबाक अभिनेत्री रवीना टंडन ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को जासूस बताकर मौत की सजा देने के पाकिस्तान के फैसले पर अपना गुस्सा जताते हुए सीधा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है कि क्या हम सिर्फ बैठकर जाधव को मरते हुए देखेंगे?....

    रवीना टंडन ने अपने सोशल साइट ट्विटर हैंडल के जरिए पीएम मोदी, विदेशमंत्री सुषमा स्वराज और होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह को टैग करते हुए सवाल किया है। रवीना ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'क्या हम बस यूं ही बैठकर जाधव को मरते हुए देखेंगे?' यह पहला मौका नहीं है जब बेबाक रवीना ने देश या समाज से जुड़े किसी गंभीर विषय पर सवाल उठाया हों। वह पहले भी ऐसे विषयों पर खुलकर अपने विचार और सवाल रखती रहीं हैं।
    सलमान खान के पिता और लेखक सलीम खान ने कुलभूषण जाधव मामले में अपनी बात कहते हुए ट्वीट किया है, 'एक बेगुनाह आदमी को मारना सारी इंसानियत को मारने के बराबर है।' सलीम खान अपने एक दुसरे ट्वीट में लिखते हैं, 'पाकिस्तान भारत के साथ अच्छे संबध बनाने और रखने की बात करता है। यह मौका है अच्छे संबध बनाने का। हम जाधव के कुशलता पूर्वक लौटने की प्रार्थना करते हैं।'
    पाकिस्तान में आतंकवाद के आरोप में फांसी चढ़ाए गए सरबजीत सिंह पर बनी फिल्म में सरबजीत की भूमिका निभा चुके रणदीप हुड्डा ने भी जाधव को मौत की सजा सुनाए जाने की निंदा की। उन्होंने कहा, 'कोई मुकदमा नहीं, कोई सबूत नहीं, सिर्फ बंद कमरे में सैन्य अदालत की कार्रवाई? यह झूठ है। पाकिस्तान दूसरा सरबजीत बना रहा है।' रणदीप ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को टैग करते हुए ट्वीट किया, 'मेरा हृदय उनके साथ है। पाकिस्तान में जबरन जुर्म कबूलने के लिए अकल्पनीय यातनाएं और मानवाधिकार उल्लंघन। मुझे देश के मजबूत नेतृत्व पर विश्वास है। उम्मीद है इसे खत्म किया जाएगा।'

    अभिनेता ऋषि कपूर ने पाकिस्तान के इस फैसले का विरोध करते हुए ट्विटर पर कहा, 'क्षमा करें, भारत ने अभिनेताओं, फिल्मों, खेल आदि के माध्यम से पाकिस्तान के साथ शांति की कोशिश की, लेकिन वे सिर्फ नफरत चाहते हैं। ऐसा है तो यही सही। ताली दो हाथ से बजती है।' अपनी टिप्पणियों के कारण विवादों में रहने वाले गायक अभिजीत ने ट्विटर पर कहा है, 'भारत में पाकिस्तानी दिखे तो उनको पेड़ से लटका दो।' उन्होंने जाधव को मौत की सजा से बचाने का आग्रह किया।
    पूर्व पाकिस्तानी और अब भारतीय सिंगर अदनान सामी ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान में मौत की सजा सुनाए जाने का विरोध किया है। नवभारतटाइम्स डॉट कॉम से हुई विशेष बातचीत में अदनान सामी ने पाकिस्तान के इस फैसले को सरासर गलत ठहराते हुए कहा है कि कुलभूषण जाधव को इस तरह की सजा सुनाना, न्याय के विरुद्ध किया गया तर्कहीन और बेतुका डिसीजन है।

    गौरतलब हो कि कुलभूषण जाधव पर चल रहा यह मुकदमा आर्मी की फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल के जरिये चलाया गया, जिसका मतलब यह है कि सैन्य जूरी कानूनी तौर पर प्रशिक्षित नहीं थी। वह स्वतंत्र और निष्पक्ष भी नहीं थी। वह पूरी तरह से पाकिस्तानी सेना के कमांड और कंट्रोल में काम करती है। यह इंटरनैशनल कन्वेंशन ऑफ सिविल एंडपॉलिटिकल राइट्स के आर्टिकल 14 की भावना के खिलाफ है।

    कुलभूषण जाधव को पिछले साल ईरान के नियंत्रित बलूचिस्तान इलाके से 3 मार्च को अरेस्ट किया गया था। भारत सरकार का कहना है कि पूर्व नौसेना अधिकारी जाधव वहां बिजनस ट्रिप के लिए गए थे और उनके पास वैध पासपोर्ट और ईरानी वीजा था।

    पिछले साल कुलभूषण की गिरफ्तारी के बाद से ही भारत सरकार छह बार वहां के विदेश मंत्रालय को लिखकर दे चुकी कि वह सेना के रिटायर्ड अधिकारी हैं और ईरान में अपना व्यापार करते थे। रॉ से उनका कोई कनेक्शन नहीं है, उन्हें छोड़ दिया जाए। मंगलवार को संसद में भी मंत्रियों सभी सांसदों ने यही राय जाहिर की है। इतना ही नहीं, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज खुद यह स्वीकार कर चुके हैं कि जाधव को भारतीय जासूस साबित करने के लिए कोई ठोस सबूत उनकी सरकार के पास नहीं है। भारत जब सबूत मांगता है तो पाकिस्तान जाधव की चंद मिनटों की एक रिकॉर्डिंग दिखाता है जिसे कम से कम पचास जगहों पर एडिट किया गया है।

    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers