• Breaking News

    .

    .

    बैंक खाते से नहीं निकले रुपए तो धरने पर बैठ गया दूल्हा

    दुल्हन लाने की तैयारियों में जुटा दूल्हा बारात ले जाने के पांच दिन पहले धरने पर बैठ गया. वो इस बात से खफा है कि शादी का सामान खरीदने और बारात ले जाने के लिए उसे कैश की जरूरत थी, लेकिन बैंक उसके खाते में जमा राशि का भुगतान नहीं कर रहा.
    अपनी तरह का यह पहला मामला मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के सुठालिया का है. यहां अपनी उपज बेचने के 20 दिन बाद भी किसानों को जिला सहकारी बैंक से नकदी नहीं मिल रही है. इस बात से नाराज किसानों ने सहकारी बैंक के सामने प्रदर्शन और नारेबाजी के साथ चक्काजाम कर दिया.
    इस दौरान बैंक से रुपए निकालने के लिए पहुंचे सड़िया गांव के किसान रायसिंह और उनके बेटे बबलू को भी बैंक ने नकदी नहीं होने का हवाला देकर उसे पैसे देने से इनकार कर दिया.
    दरअसल, रायसिंह ने 29 मार्च को समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचा था लेकिन अब तक बैंक ने भुगतान नहीं किया है. रायसिंह के बेटे बबलू की पांच दिन बाद शादी है. ऐसे में फसल की राशि नहीं मिलने से शादी की तैयारियों में खलल पड़ गया है. इस वजह से खफा होकर बबलू भी धरने पर बैठ गया.
    दूल्हा बबलू बताता हैं, 'बाजार में कोई भी उधार पर सामान नहीं दे रहा है. शादी के लिए जरूरी खरीदारी के अलावा बारात के लिए भी नकदी संकट खड़ा हो गया है. इस वजह से मजबूरन धरने पर बैठना पड़ा.'
    वहीं, सहकारी बैक के जिला प्रबंधक विशेष श्रीवास्तव रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से नकदी नहीं आने को करेंसी संकट की वजह बता रहे है.

    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers