• Breaking News

    बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में जानिए किसने क्या कहा ?

    नई दिल्ली। बाबरी विध्वंस मामले में उच्चतम न्यायालय ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आपराधिक साजिश रचने की धाराओं को हटाने के आदेश को निरस्त कर दिया है। इसके साथ ही उच्चतम न्यायालय ने सभी मामले लखनऊ में चलाने का आदेश दिया है और दो साल में ट्रायल पूरा करने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश पीसी घोष और न्यायाधीश रोहिंटन नरीमन की संयुक्त पीठ ने सीबीआई की अपील पर फैसला सुनाया कि लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत 13 लोगों पर आपराधिक साजिश का केस चलेगा।
    आइए जानते हैं इस मामले में सियासी गलियारों से क्या प्रतिक्रियाएं आईं:-
    अरुण जेटली :-
    उच्चतम न्यायालय के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई को सभी चौदह आरोपियों के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने की धाराओं को फिर से लगाने के आदेश पर वित्तमंत्री अरूण जेटली ने कहा है कि इसमें कुछ भी नया नहीं है। वित्तमंत्री जेटली ने कहा कि बाबरी मस्जिद से जुड़ा मामला 1993 से चल रहा है। इसमें आज कुछ भी नया नहीं हुआ है। उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में ही सब कुछ स्पष्ट किया है। उन्होंने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि केवल आरोपपत्र के आधार पर यदि मंत्रियों को हटाया जाए तो कांग्रेस का कोई मुख्यमंत्री नहीं होगा जो बच पाएगा।
    उमा भारती:-
    भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि इसमें कोई भी साजिश नहीं थी, सबकुछ खुल्लम खुल्ला था। उस समय जो कुछ भी हुआ उसका माहौल पहले ही बन चुका था। आज रात ही अयोध्या जाऊंगी और हनुमान गढ़ी सहित अन्य मंदिरों के दर्शन करुंगी। इसके साथ ही उमा ने कहा कि राम मंदिर बनकर रहेगा इसलिए चाहे जो करना पड़े करुंगी। हालांकि जब पत्रकारों ने उनसे कहा कि कांग्रेस आपके इस्तीफे की मांग कर रही है तो इस पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कांग्रेस की किसी भी बात का कोई जवाब नहीं दूंगी।
    विनय कटियार:-
    भाजपा नेता विनय कटियार ने कहा है कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। कोई आपराधिक साजिश नहीं रची गई। उन्होंने कहा कि जानबूझकर सीबीआई ने आपराधिक केस चलाने की पहली की। हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करेंगे। राम मन्दिर निर्माण के लिए जेल भी जाना पड़े तो जाएंगे।
    कपिल सिब्बल:-
    कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट से भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, केंद्रीय मंत्री उमा भारती और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुरली मनोहर जोशी समेत 13 भाजपा नेताओं पर आपराधिक मुकदमा चलाने के लिए मंजूरी को कानून का राज करार दिया है। बाबरी मामले पर न्यायालय के फैसले पर कपिल सिब्बल ने खुशी जताते हुए कहा, ‘कानून का राज कायम है, इस्तीफा देना या नहीं देना नैतिकता का सवाल है। न्याय की दिशा में यह ठोस कदम है। इससे कानून का गौरव बरकरार रहेगा।‘
    चम्पत राय:-
    योध्या में विवादित ढांचे के विध्वंस मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री चम्पत राय ने एक सामान्य प्रक्रिया बताया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में मुकदमा चलना गर्व की बात है। चम्पत राय उन 13 लोगों में से हैं, जिनके खिलाफ इस मामले में आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने का आदेश कोर्ट ने दिया है। राय ने इस फैसले के बाद अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि मैं इस फैसले को सामान्य प्रक्रिया मानता हूं, मेरे लिए न कुछ नया और न ही कुछ पुराना है।
    नरेश अग्रवाल:-
    अयोध्या में विवादित ढांचे के विध्वंस मामले पर समाजवादी पार्टी (सपा) ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। पार्टी के राज्य सभा सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हैं, लेकिन हम लोगों की यह मांग है कि अब इस मामले को रोज-रोज सुनवाई करके जल्दी से जल्दी निपटा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि बाकी लोगों को भरोसा हो सके की न्याय समय पर मिल सकता है। पहले ही इस मामले में बहुत देर हो चुकी है।
    शहजाद पूनावाला:-
    शहजाद पूनावाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के इस कदम के बाद उमा भारती और कल्याण सिंह को अपने पदों से तुरंत इस्तीफ़ा दे देना चाहिए। जिससे कोर्ट अपना काम ठीक से कर सके। सभी जांच एजेंसियों को बिना दबाव के जांच करने की छूट दी जनि चाहिए जिससे दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचाया जा सके।
    केसी त्यागी:-
    जेडीयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी ने इस मसले पर कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘मैं कांग्रेस के नेताओं को भी दोषी मानता हूं जिन्होंने भाजपा नेताओं पर भरोसा किया।’


    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers