• Breaking News

    .

    .

    आखिर आया ‘ऊंट’ पहाड़ के नीचे

    नई दिल्‍ली। दिल्ली में लोगों की भारी नाराजगी जाहिर होने के बाद आप के संयोजक व दिल्ली के सीएम केजरीवाल का ‘अहंकार’ जमीन पर आ गया है। चौतरफा हार के बाद आम आदमी पार्टी में विरोधी सूर तेजी से उभरे हैं। लगातार चुनावों में मिल रही हार ने न सिर्फ केजरीवाल के झूठे दावों की कलई खोल दी है बल्कि उनके खोखले आरोपों पर से भी पर्दा उठा दिया है। विधानसभा चुनावों में हार का मुंह देखने के बाद केजरीवाल ने ईवीएम का बहाना बनाकर भारतीय जनता पार्टी पर आरोपों की झड़ी लगा दी थी। परिणामस्वरूप चुनाव आयोग ने भी दखल देकर केजरीवाल को ईवीएम हैक करने की खुली चुनौती दे दी थी। अब एमसीडी में एक बार फिर हार का स्वाद चखने वाले अरविंद केजरीवाल के बदले-बदले जता रहे हैं। केजरीवाल ने सोशल मीडिया पर एक कुबूलनामा जारी किया है।
    आम आदमी पार्टी के भीतर से अबतक केजरीवाल के चलाए जा रहे नीतियों की धज्जियां उड़ा कर दी गई है। कुमार विश्वास से सीधे पार्टी के इस हाल के लिए केजरीवाल को जिम्मेदार ठहराया है। प्रधामंत्री बनने का स्वाब देख रहे केजरीवाल जमीन पर औंधे मुंह गीर पड़े हैं। इन सब परिस्थितियों के बीच पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल का कहना है कि वह आत्मचिंतन के लिए तैयार हैं। केजरीवाल ने माना कि उनकी सरकार से कुछ गलतियां हुईं हैं और अब उनकी सरकार उस पर काम कर उन्हें सुधारने की कोशिश करेगी।
    केजरीवाल ने ट्विटर पर एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें उन्होंने इस बात को स्वीकार किया है कि उनसे गलती हुई है। केजरीवाल ने जो तस्वीर ट्वीट की उसमें लिखा है कि बीते दो दिनों में मैंने अपने कार्यकर्ताओं और वोटरों से बात की। हां, हमसे गलतियां हुई हैं और हम उन पर आत्मचिंतन कर उन्हें सुधारेंगे। हमारे वोटरों और कार्यकर्ताओं की तरफ हमारी कुछ जिम्मेदारियां हैं। अब हमें काम करने की जरूरत है। हम अपने काम में असफल भी हैं तो भी हमें काम करते रहना है और उसी के दम पर आगे बढ़ना है। केवल एक चीज स्थिर है और वो है बदलाव।
    शुक्रवार को कुमार विश्वास ने भी हार के लिए केजरीवाल के नेतृत्व पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने साफतौर पर कहा था कि आम आदमी पार्टी कांग्रेस की तरह हो गई है। साथ ही, उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल करने की बात को भी गलत ठहराया था।
    एमसीडी चुनावों में केजरीवाल सरकार को करारी हार का सामना करना पड़ा है। विधानसभा चुनाव में 70 में से 67 सीटें जीतने वाली आप को एमसीडी में 270 में से केवल 48 सीटें ही जीत पाई। इससे पहले पंजाब और गोवा में भी आप को करारी हार का सामना करना पड़ा था लेकिन उनकी पार्टी लगातार अपनी हार के लिए भाजपा पर आरोप लगाती रही है। उनका कहना था कि देश में मोदी लहर नहीं है और भाजपा सरकार ईवीएम में गड़बड़ी कर के चुनाव जीत रही है।

    No comments:

    Post a Comment

    सिनेजगत

    जरा हटके

    Alexa

    ज्योतिष

    Followers